RISHABH PANT BIOGRAPHY IN HINDI.

ऋषभ पंत के जीवन की अनोखी कहानी।

RISHABH PANT BIOGRAPHY IN HINDI

... ... ...

जैसा की हमने मयंक अग्रवाल की कहानी की पोस्ट को पढ़ा। उस पोस्ट में मयंक अग्रवाल के कठिन परिश्रम और लक्ष्य से हम बहुत कुछ सीखे और हमें आगे बढ़ने की सच्ची लगन सिखने को मिली। किसी ने सही कहा है की मेहनत इंसान की कभी बेकार नहीं जाती। लोगो के होसलो पर ही उनका भविष्य निर्धारित होता है।

आज हम जिस इंसान की बात करने जा रहे है। वो भारतीय टीम के महान खिलाड़ी है, जिसे अपने काबिलियत पर इतना भरोसा था की कोच के ख़राब व्यवहार के बाद भी आखिरिदम तक मैदान में अपना हुनर दिखता रहा।

किसी नैक दिल इंसान ने कहा था की जब तक हम सब जित हासिल नहीं कर लेते, तब तक हम लोगो की नकारात्मक के शिकार होते रहेंगे। लोगो की गलत सोच से काफी लोग अपने भविष्य को ख़राब कर बैठे है। आप अपने भविष्य को एक सच्चा और समृद्ध तभी बना सकते है, जब आपके पास एक उचित लक्ष्य हो।

RISHABH PANT BIOGRAPHY

RISHABH PANT AGE

आज हम भारतीय टीम के होनहार लड़के ऋषभ पंत के जीवन की अनोखी कहानी के बारे में बताने जा रहे है। जिससे आपके होसलो में वृद्धि होगी। ऋषभ पंत ने 22 अक्टूबर 2015 अपने क्रिकेट भविष्य की शुरुआत की थी। उन्हें कभी नहीं पता था की वे एक दिन भारत के लिए खेलने वाले है। हम सभी जानते यही की एक सच्ची लगन किसी भी चीज़ में लग जाए तो वो पूरा होकर ही दम लेगी।

कहते है की वे एक बेहतरीन विकेट कीपर है लेकिन जब टूर्नामेंट के दौरान उनकी बल्लेबाजी का प्रदर्शन लोगो ने देखा तो उनके होश उड़ गए। सभी के मुँह पर सिर्फ एक ही सक्ष का नाम था और वो था ऋषभ पंत।

ऋषभ पंत ने पहले बहुत से टूर्नामेंट में अपनी मेहनत को आजमाया लेकिन उन्हें सिर्फ एक सही खेल और समय की जरुरत थी। उन्हें जब 2015 में रणजी मैच के लिए चयन किया गया तब वे ख़ुशी से पागल हो चुके थे।

उनका कहना है की जब वे रणजी मैच के लिए चयन किये गए थे, तब वे पूरी तरीके से बेकाबू हो चुके थे। उन्होंने मन ही मन ठान लिया था की उनके खून का एक एक कतरा भारत के लिए न्योछावर कर देंगे। और उसके बाद जब मैच शुरू हुआ तो उन्होंने पुरे भारत ही नहीं बल्कि पुरे विश्व में अपना बोल बाला रख दिया।

ऋषभ पंत का सम्पूर्ण जीवन परिचय।

नाम – ऋषभ पंत

जन्म – 4 अक्टूबर 1997

उम्र – 24 वर्ष

जाती – ब्रह्माण्ड

नॅशनलिटी – भारत

कोच – तारक सिन्हा

कहते है की ऋषभ पंत के घर से आज तक कोई क्रिकेट में नहीं था। और उनके जीवन के फैसले सिर्फ ऋषभ को लेने कहा गये , जिसके चलते वे जीवन को काफी बेहतरीन ढंग से सफल कर पाए। जीवन में आप सफल तभी हो सकते है , जब आप अपने फैसले खुद ले सके।

RISHABH PANT BIOGRAPHY IN HINDI

Leave a Comment

Your email address will not be published.